विश्व मधुमेह दिवस 2018: डायबिटीज को करना है कंट्रोल तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

GoMedii Ad - Buy Medicine Online

हर साल 14 नवंबर को विश्व मधुमेह(डायबिटीज) दिवस मनाया जाता है। विश्‍व मधुमेह दिवस को अंतरराष्‍ट्रीय मधुमेह संघ और विश्‍व स्वास्‍थ्‍य संगठन द्वारा वर्ष 1991 में शुरू किया गया था। इस दिन दुनिया भर में मधुमेह के प्रति जागरुकता फैलाने वाले कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। आज के समय में लोगों की खान-पान की गलत आदतों, धूम्रपान की लत और अस्वस्थ्य जीवन शैली की वजह से मधुमेह की समस्या गंभीर होती जा रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का कहना है कि मधुमेह एशिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य समस्या के रूप में उभरा है। एशियाई सबसे अधिक मात्रा में मधुमेह का शिकार हो रहे हैं। साथ ही भारत में भी यह संख्या गंभीर है।

 

मधुमेह क्या है?

 

मधुमेह एक ऐसी समस्या है जिसमें शरीर में इंसुलिन नाम का हार्मोन ज्यादा मात्रा में बनने लगता है या शरीर में बनने वाला हार्मोन नियंत्रित नहीं रहता। इसके परिणाम स्वरूप शरीर का मेटाबॉयोलिज्म असमान्य रहने लगता है और खून में शुगर का लेवल बढ़ जाता है। कहा जाता है कि इस बीमारी को जड़ से खत्म करने के लिए कोई उपाय नहीं है लेकिन यदि हम खून में शुगर के मात्रा को कंट्रोल कर लें आराम से सामान्य जीवन जिया जा सकता है।

 

मधुमेह दो प्रकार की होती है

 

Type 1 Diabetes – इसमें शरीर में जरूरी इंसुलिन नहीं बन पाता। Type 2 Diabete – इसमें शरीर में इंसुलिन बनता तो है लेकिन वह काम नहीं करता। इस बीमारी में खून में हाई शुगर या लो शुगर की समस्या होती है।

 

मधुमेह के लक्षण

 

 

 

  • ज्यादा प्यास लगना

 

  • बार-बार पेशाब आना

 

  • घाव और चोंट ठीक होने में ज्यादा वक्त लगना

 

मधुमेह कंट्रोल करने के लिए घरेलू उपाय

 

तुलसी जरूर खाएं

 

तुलसी एंटी-ऑक्सीडेंट होती है, इसलिए इसे किसी भी रूप में जरूर खाएं। चाहें तो रोज सुबह उठ कर पांच से दस पत्तियां चबा लें या तुलसी का काढ़ा लें। तुलसी में ऐसे तत्व होते हैं जो पैंक्रियाटिक बीटा सेल्स को इंसुलिन को एक्टिवेट कर देते हैं जिससे इंसुलिन का स्त्राव बढ़ जाता है। इससे ब्लड शुगर कम होता है।

 

दालचीनी है गुणों की खान

 

दालचीनी खाने में स्वाद बढ़ाने के साथ कई बीमारियों के इलाज में भी काम आती है। दालचीनी इंसुलिन की संवेदनशीलता बढ़ाती है। ये ब्लड में शुगर और वेट लॉस के लिए बहुत फायदेमंद है। एक से दो चम्मच दालचीनी पाउडर को गुनगुने पानी के साथ रोज लें।

 

ग्रीन कॉफी या टी पीना शुरू करें

 

ग्रीन कॉफी या ग्रीन टी में हाई पॉलीफिनॉल पाया जाता है। ये एक सक्रिय एंटी-ऑक्सीडेंट है, जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मददगार है। प्रतिदिन सुबह और शाम ग्रीन टी पीने से फायदा होगा।

 

सहजन की पत्तियां है बहुत काम की

 

सहजन की पत्तियों का रस भी डायबिटीज कंट्रोल करने में बहुत कारगर है। इसकी पत्तियों को पीसकर उसे निचोड़ लें और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। इससे ब्लड शुगर कंट्रोल में रहेगा।

 

जामुन के बीजों का पाउडर ले

 

जामुन के बीज का पाउडर रोज सुबह दो चम्मच पानी से लें। चाहें तो घर में ही बीज को सुखा कर उसके पाउडर बना लें। इससे गुनगुने पानी से लेना चाहिए। ये डायबिटीज में रामबाण होता है।

 

नियमित तौर पर पानी पिएं

 

डायबिटीज के मरीज को अधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए। डायबिटीज के मरीज में तरल पदार्थों की कमी हो जाती है और आप अधिक मात्रा में पानी पीकर उस कमी को पूरा कर सकते हैं। इससे आपकी त्वचा स्वस्थ रहेगी और साथ ही उसमें नमी भी बरकरार रहेगी।

 

नियमित व्यायाम करें

 

आपको दिन में कम से कम तीस मिनट व्यायाम करना चाहिए। आप चाहें तो इसे दिन भर में 10-10 मिनट के तीन हिस्सों में बांटकर भी कर सकते हैं। सबसे अच्छा यह रहेगा कि सुबह 10 निमट की स्ट्रेंथ ट्रेनिंग की जाए। दोपहर के भोजन के बाद दस मिनट की तेज चाल चली जाए। और शाम को उ़द्यान में आराम से घूमा जाए। स्ट्रेंथ और कार्डियो एक्सरसाइज का मेल आपके शरीर में ब्ल्ड शुगर के स्‍तर को नियंत्रित रखने में काफी मददगार साबित होगा। इसके साथ इससे आपका दिल भी तंदुरुस्त रहेगा।


Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


   
GoMedii - Buy Medicine Online