पाचन शक्ति को मजबूत करने के घरेलू उपाय

GoMedii Ad - Buy Medicine Online

पाचन तंत्र भोजन को ऊर्जा में बदल कर आपके शरीर को रोगों से लड़ने के सक्षम बनाता है, और पाचन क्रिया के खराब होने पर आपको न तो खाना पचता है और न ही भरपूर पोषण मिलता है, तो आइये हम आपको बताते है की आप किस प्रकार इन तरीको को अपनाकर अपनी पाचन शक्ति बढ़ा सकते है, और पाचन तंत्र को मजबूत कर सकते है।

 

हर घर की परेशानी खाने के बाद खाने का ना पचना, गैस का बनना,जैसी समस्या सुनने को काफी मिलती है। जिससे पेट दर्द, जलन, पेट का फूलना,और गैस के ज्यादा बढ़ जाने पर सीने में दर्द का होना काफी होता है जिसके दर्द से अजब सी बैचेनी होने लगती है। साथ ही खाने के बाद पेट भी अच्छी तरह से साफ नही हो पाता इस तरह के लक्षण देखने को मिलते है। इसके लिये हर तरह की दवाइयों के लिये हम यहां वहां भटकते रहते है पर इसका सही निदान हमें नही मिल पाता। यदि आप थोड़ी सी सावधानी बरतें तो आप इस समस्या से जल्द ही मुक्ति पा सकते है ये राज छुपा है आप ही के घर पर जिसका उपयोग आप रोज अपनी जिंदगी में करते है। यहां हम ऐसे ही घरेलू नुस्खों के बारे में बता रहे है। जिससे आप हर समस्या से मुक्ति पा सकते है।

 

पाचन शक्ति मजबूत करने के उपाय

 

नीबूं

 

आपके पेट दर्द और गैस जैसी समस्या से मुक्ति पाने का सबसे खास और अहम उपाय है नीबूं का रस जिसका सेवन करने से आपके शरीर के अंदर के विषैले पदार्थ को मूत्र द्वारा बाहर निकाल कर शरीर को नई स्फूर्ति और शक्ति प्रदान करता है। और हमारे लीवर को स्ट्रांग बनाने का काम करता है। इससे पेट का फूलना, गैस का बनना जैसी समस्याओं से मुक्ति मिलती है। इसको चूसने से खाना सरलता के साथ पच भी जाता है।

 

नारंगी

 

संतरे का रस आपकी कमजोर पाचनशक्ति को मजबूत बनाने का काम करता है इसका सेवन करने के लिए आप संतरे के रस के साथ तीन गुना पानी डालकर इसका सेवन करें। आपके स्वास्थ पाचन शक्ति को सही तरीके से मजबूत करेगा।

 

पुदीना

 

पुदीना पेट की कई बीमारियो का अमृतीय इलाज के रूप में जाना जाता है। गैस जैसी समस्या के लिये ये वरदान के समान है इसका सेवन आपको प्रतिदिन करते रहना चाहिये।

 

पालक

 

कच्चे पालक के रस में आयरन के तत्व भरपूर मात्रा में पाये जाते है। इसके अलावा इसमें कई प्रकार के खनिज लवण जैसे कैल्सियम, मैग्नीशियम ,लौह, तथा विटामिन ए, बी, सी आदि की भरपूर मात्रा में पायी जाती हैं। जो हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा को ठीक करता है। इसी कारण इसे जीवन रक्षक भोजन भी कहा जाता हैं। शरीर में कमजोरी को दूर करने के साथ यह पेट से जुड़ी तकलीफों को भी दूर करता है। जो आतों के साथ पेट की कब्जियत को भी दूर करने में सहायता प्रदान करता है। आप इसका उपयोग करने के लिये सबसे सही तरीका है कि इसे पालक और बथुए की सब्जी के साथ मिलाकर खाएं ऐसा करने से कब्ज जैसी समस्या से जल्द ही छुटकारा मिलेगा। और पेट के रोग भी दूर होने लगेगे इसी कारण रोज खाने में इसका उपयोग करें।

 

बेल

 

बेल का शरबत, या मुरब्बा या चूर्ण,ये हमारे शरीर में ठंड़ाहट देने के साथ अंदर की गर्मी को शांत करता है। एंव हमारे शरीर का आंतो की सफाई भी करने में सहायता करता है।गर्मी के समय में इसका सेवन अमृत के समान है। पेट के रोगों से पीडित रोगियों को बेल का सेवन रोज करना चाहिए।

 

मूली

 

मूली का सेवन गैस जैसी समस्या से राहत पहुंचाने में रामबाण के समान है इसका सेवन आप सलाद के रूप में भा कर सकते है, मूली को काला नमक के साथ खाएं ज्यादा फायदेमंद होगी । मूली का जूस या इसका सेवन करना आपकी सेहत के लिए काफी अच्छा माना गया पर इसका उपयोग रात में करने से नुकसान भी हो सकता है।इसलिये रात के समय मूली का सेवन ना करें।

 

बथुआ

 

ज्यादातर बथुआ खाने का मौसम जाड़े का कमय होता है इन दिनों यह काफी मिलता है। पर जिस समय भी आपको बथुआ मिले,इसका सेवन करने से ना चूके ये आपके शरीर के लिये एंव गैस कि बीमारी को दूर करने के लिये अचूक बाण है। इससे पेट के हर प्रकार के रोग यकृत(लिवर), तिल्ली(स्प्लीन), गैस, अजीर्ण, कृमि, अर्श (बवासीर) जैसी बीमारियों से आपको काफी राहत मिल सकती है।

 

अदरक

 

अदरक का सेवन सर्दी के दिनों में खांसी,कफ,जुकाम जैसी समस्याओं से राहत पाने के लिए करते है। इसका सेवन करने से आपके हाजमे को ठीक करता है। ऐसा करने से आपका हाज़मा ठीक होगा, भूख लगेगी, पेट की गैस, कब्ज दूर होगी, मुंह का स्वाद ठीक होगा, भोजन की और रूचि बढ़ेगी। सर्दी जुकाम के कारण जीभ और कंठ में चिपका कफ भी खत्म होकर गला साफ करता है। इसके अलावा जब आपका पेट गैस बढ़ने के कारण ज्यादा फूले जिससे बदहज़मी होने लगे तो अदरक के टुकड़ों को देशी घी में सेंककर स्वादानुसार नमक डालकर दो समय खाएं। इससे पेट के समस्या से जल्द ही निदान होगा।

 

गरम पानी पियें

 

पानी शरीर के लिए बहुत जरूरी है और यह हमारे शरीर के विषाक्‍त पदार्थों को बाहर निकालता है। लेकिन शायद आपको यह नहीं पता कि सामान्‍य पानी की तुलना में गरम पानी पीने से पाचन शक्ति मजबूत होती है। इसलिए पानी को पीने से पहले हल्‍का गरम कीजिए। रोज 8 से 10 गिलास पानी का सेवन करना चाहिए। नींबू पानी पीने से भी पाचन शक्ति मजबूत होती है।

 

इलायची

 

इलायची के बीजों के चूर्ण में बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर दिन में 2-3 बार 3 ग्राम की मात्रा में सेवन करने से गर्भवती स्त्री के पाचन विकार दूर हो जाते हैं तथा खुलकर भूख लगती है।


Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


   
GoMedii - Buy Medicine Online