हेपेटाइटिस क्या है : जाने इसके कारण, लक्षण और इस बीमारी से बचाव के उपाय

GoMedii Ad - Buy Medicine Online

हेपेटाइटिस (hepatitis) मूल रूप से लीवर (liver) की बीमारी होती है जो वायरल इन्फेक्शन (Viral infection) होने के कारण होती है। इस अवस्था में लीवर में सूजन आती है। हेपाटाइटिस में पाँच प्रकार के वायरस होते हैं, जैसे- ए,बी,सी,डी और ई। इन पाँच प्रकारों को लेकर ही ज्यादा चिंता करने की ज़रूरत है क्योंकि इनके कारण ही महामारी जैसी अवस्था हो रही है और मौत की आबादी बढ़ रही है। टाइप बी और सी लाखों लोगों में क्रॉनिक बीमारी (Chronic disease) का कारण बन रहे हैं क्योंकि इनके कारण लीवर सिरोसिस (liver cirrhosis) और कैंसर (cancer) होता है।

 

हेपेटाइटिस प्रकार (Types Of Hepatitis)

 

हेपाटाइटिस वायरल इन्फेक्शन (Hepatitis Viral Infection) के कारण होता है जो वायरस के अनुसार पाँच प्रकारों में विभाजित किया गया है। ये पाँच प्रकार दुनिया भर के लोगों के लिए चिंता का कारण बन गए है।

 

1. हेपेटाइटिस ए: (Hepatitis A)

 

डब्ल्यूए के अनुसार हर साल 1.4 मिलयन लोग इस बीमारी से ग्रस्त हो रहे हैं। ये खाना और पानी के विषाक्त होने से यह आम तौर फैलता है।

 

2. हेपेटाइटिस बी: (Hepatitis B)

 

इन्फेक्टेड ब्लड (Infected blood) के ट्रांसफ्यूशन (Transfusion) और सिमन और दूसरे फ्लूइड (Fluid) के इक्सपोशर (Exposure)के कारण यह संक्रमित (infection) होता है।

 

3. हेपेटाइटिस सी : (Hepatitis C)

 

यह हेपेटाइटिस सी वायरस (Hepatitis C virus) के कारण होता है। `यह ब्लड और इन्फेक्टेड इन्जेक्शन के इस्तेमाल से होता है।

 

4. हेपेटाइटिस डी : (Hepatitis D)

 

यह हेपेटाइटिस डी वायरस (Hepatitis D virus) के कारण होता है। जो लोग पहले से एचबीवी वायरस के इन्फेक्टेड होते हैं वे ही इस वायरस से संक्रमित होते हैं। एचडीवी और एचबीवी दोनों के एक साथ होने के कारण स्थिति और भी बदतर हो जाती है।

 

5. हेपेटाइटिस ई : (Hepatitis E)

 

हेपेटाइटिस ई वायरस (Hepatitis E virus) के कारण यह होता है। दुनिया के ज्यादातर देशों में हेपेटाइटिस के संक्रमण का यही कारण है। यह विषाक्त पानी और खाना के कारण ज्यादा होता है।

 

एक्यूट हेपेटाइटिस (Acute hepatitis)

 

अचानक लीवर में सूजन होता है जिसका लक्षण छह महीने तक रहता है और रोगी धीरे-धीरे ठीक होने लगता है। एचएवी इन्फेक्शन के कारण आम तौर पर एक्यूट हेपैटाइटिस होता है।

 

क्रॉनिक हेपेटाइटिस (Chronic hepatitis)

 

क्रॉनिक एचसीवी इन्फेक्शन से 13-150 मिलयन लोग दुनिया भर में प्रभावित होते हैं। लीवर कैंसर और लीवर के बीमारी के कारण ज्यादा से ज्यादा लोग मरते हैं। एचइवी इन्फेक्शन क्रॉनिक रोगी का इम्यून सिस्टेम भी बूरी तरह से इफेक्ट होता है।

 

हेपेटाइटिस होने के कारण: (Causes of Hepatitis)

 

वायरल इन्फेक्शन (Viral infection):

 

हेपैटाइटिस ए, हेपैटाइटिस बी या हेपैटाइटिस सी वायरस के कारण इसका मूल कारण है।

 

ऑटोइम्यून कंडिशन (Autoimmune condition):

 

कभी-कभी शरीर के इम्यून सेल से यह पता चलता है कि लीवर का सेल क्षतिग्रस्त हो रहा है।

 

एल्कोहल इनटेक (Alcohol intake):

 

एल्कोहल सीधे लीवर के द्वारा मेटाबॉलाइज़्ड होता है, जिसके कारण यह शरीर के दूसरे भागों में भी संचारित होने लगता है। इसलिए अत्यधिक मात्रा में एल्कोहल का सेवन करने से हेपैटाइटिस होने का खतरा होता है।

 

हेपेटाइटिस बचाव के उपाय

 

हेपैटाइटिस बी और सी का रोकथाम वायरस के संक्रमण के पथ को कम करके हो सकता है-

 

• अपना रेजर, टूथब्रश और सूई को किसी से शेयर न करें, इससे इन्फेक्शन का खतरा कुछ हद तक कम किया जा सकता है।

 

• टैटू करने के वक्त उपकरणों से सावधान रहें।

 

• कान को छेद करते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि वह साफ हो।

 

सेक्स करते वक्त सावधानी बरतें।


Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


   
GoMedii - Buy Medicine Online