घबराहट और चिंता को दूर करने के आसान उपाय

GoMedii Ad - Buy Medicine Online

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में बेचैनी और घबराहट होना एक आम समस्या है और समय समय पर आमतौर पर सभी लोगों को बेचैनी और घबराहट महसूस होती है। यह समस्या सामान्य और गंभीर दोनों कारणों से होता है। उदाहरण के तौर पर यदि आप इंटरव्यू या किसी मीटिंग में जा रहे हैं तो आपको बेचैनी और घबराहट हो सकती है। इसके अलावा शरीर में कोई समस्या होने के कारण भी बेचैनी होती है। यह एक ऐसी समस्या है जो हमारी जीवनशैली और दिनचर्या दोनों को प्रभावित करती है और कुछ गंभीर परिस्थितियों में यह मानसिक समस्या का कारण भी बन जाती है। इस लेख में हम आपको प्राकृतिक तरीके से बेचैनी और घबराहट दूर करने के उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं।

 

घबराहट होने के कारण

 

वैसे तो सामान्य बेचैनी या घबराहट ज्यादातर लोगों को होती है लेकिन यदि आपको रोज और लगातार इस समस्या का सामना करना पड़ रहा हो तो वास्तव में यह काफी गंभीर हो सकती है और यह मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती है। आमतौर पर बेचैनी और घबराहट कई कारणों से होता है। आइये जानते हैं इस समस्या के कुछ मुख्य कारण।

 

  • अधिक तनाव लेने से और जीवन के बुरे समय को याद करके व्यक्ति को बेचैनी होती है।

 

  • अधिक मात्रा में एल्कोहल, कैफीन या मीठा पेय पदार्थ पीने से घबराहट और बेचैनी होती है।

 

  • व्यक्ति के शरीर में हार्मोन के असंतुलन और थॉयराइड के कारण भी बेचैनी की समस्या होती है।

 

  • यदि परिवार में किसी व्यक्ति को मानसिक समस्या हो तो आनुवांशिक कारणों से भी बेचैनी और घबराहट हो सकती है।

 

  • आत्मविश्वास की कमी होने, काम का दबाव होने, परीक्षा और इंटरव्यू का डर आदि कारणों से भी बेचैनी और घबराहट होती है।

 

  • एक स्टडी में पाया गया है कि पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं को अधिक बेचैनी और घबराहट का अनुभव होता है।

 

घबराहट होने के लक्षण

 

  • मूड खराब होना, चिड़चिड़ापन और घबराहट

 

  • बार-बार दिमाग में किसी खतरे की आशंका और डर पैदा होना

 

 

  • अधिक पसीना आना और शरीर में कंपकंपी होना

 

  • कमजोरी और थकान का अनुभव होना

 

  • ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई होना

 

  • नींद न आना या बार-बार नींद टूटना

 

  • पाचन क्रिया खराब होना

 

  • गुस्सा अधिक आना और सीने में भारीपन महसूस होना।

 

 

बेचैनी और घबराहट दूर करने के घरेलू उपाय

 

यदि किसी व्यक्ति को घबराहट या बेचैनी होती है तो वह तुरंत दवाएं लेना शुरू कर देता है। हालांकि यह बहुत बड़ी समस्या नहीं है और कई बार दवाओं का दुष्प्रभाव भी पड़ता है। इसलिए यदि आपको कभी भी बेचैनी और घबराहट महसूस हो तो इन घरेलू उपायों से अपनी समस्या दूर करें।

 

लैवेंडर ऑयल

 

एक स्टडी के अनुसार लैवेंडर ऑयल की खुशबू से बेचैनी और घबराहट दूर होती है। यदि किसी व्यक्ति को अचानक से बेचैनी होने लगे या किसी कारणवश घबराहट शुरू हो जाए तो उसे लैवेंडर ऑयल को सूंघना चाहिए। लैंवेंडर ऑयल में एंटी एंग्जायटी गुण पाया जाता है जो बेचैनी दूर करने में दवा की तरह कार्य करता है। कुछ मामलों में यह बहुत कम समय में ही बेचैनी और घबराहट को पूरी तरह से दूर कर देता है।

 

ओमेगा 3 फैटी एसिड

 

शोधकर्ताओं ने पाया है कि घबराहट और बेचैनी दूर करने में ओमेगा 3 फैटी एसिड की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। यदि कोई व्यक्ति एक से तीन ग्राम ओमेगा 3 फैटी एसिड रोजाना खाये तो उसे बेचैनी और घबराहट की समस्या नहीं होगी। इसके लिए आप अखरोट, टूना और सालमन मछली और फ्लैक्स सीड सहित ओमेगा 3 फैटी एसिड से युक्त अन्य खाद्य सामग्री खा सकते हैं। ओमेगा 3 फैटी एसिड मस्तिष्क में कार्टिसोल और एड्रेनेलिन(adrenaline) के स्तर को कम करता है जिसके कारण व्यक्ति को बेचैनी नहीं होती है।

 

हॉट बाथ

 

गुनगुने पानी में इप्सम साल्ट मिलाकर नहाने से बेचैनी दूर हो जाती है। यह शरीर के तामपान को बढ़ाता है और मस्तिष्क को शांत रखने में मदद करता है। इप्सम साल्ट में मैग्नीशियम सल्फेट पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रिक करता है एवं बेचैनी और घबराहट को बढ़ने नहीं देता है। यदि किसी व्यक्ति को बेचैनी हो तो उसे यह समस्या दूर करने के लिए इप्सम साल्ट पानी में मिलाकर तत्काल नहाना चाहिए।

 

मेडिटेशन

 

कहा जाता है कि मेडिटेशन एक ऐसी चीज है जो स्थायी रूप से कुछ समस्याओं को खत्म कर देती है। बेचैनी और घबराहट की समस्या होने पर व्यक्ति को मेडिटेशन करना चाहिए, इसका कारण यह है कि जब व्यक्ति आंखें बंद करके मेडिटेशन करने बैठता है तो नासिका के माध्यम से फेफड़े में शुद्ध वायु पहुंचती है जिसके कारण व्यक्ति चिंता और तनाव को भूल जाता है और कुछ ही देर में मस्तिष्क पूरी तरह से शांत हो जाता है और व्यक्ति खुद को ऊर्जावान महसूस करता है।

 

अश्वगंधा

 

प्राचीन काल से ही घबराहट और बेचैनी दूर करने से लिए अश्वगंधा का उपयोग किया जा रहा है। अश्वगंधा एक ऐसी जड़ी बूटी है जो तनाव के प्रति शरीर की प्रतिक्रिया को स्थिर रखती है। शोधकर्ताओं का मानना है कि अश्वगंधा में कई चिकित्सकीय गुण पाये जाते हैं जो मस्तिष्क को शांत रखने में मदद करते हैं जिसके कारण व्यक्ति की बेचैनी और घबराहट दूर हो जाती है।

 

सकारात्मक सोच रखें

अक्सर जब लोग अपना प्रेज़ेंटेशन देने जाते हैं तो मेरा प्रेज़ेंटेशन कैसा होगा, इसकी कशमकश में उलझे रहते हैं और इस उलझन में वो अपना बेस्ट नहीं दें पाते हैं। इसलिए ज़रूरी है कि आप इन ग़लतियों को न दोहराएं। हमेशा सकारात्मक सोच रखकर घबराहट को दूर भगायें और बस ये ही सोचें कि आप अपना बेस्ट देंगे। फिर आप देखेंगे कि आपका प्रेज़ेंटेशन सबसे बेस्ट होगा।

 

अच्छे विचारों को पढ़ें

 

जब आप अच्छे विचारों को पढ़ते हैं तो आप अच्छा सोचते हैं और उन विचारों से प्रभावित होकर अपने जीवन में कुछ अच्छा करने का प्रयास करते हैं। एक अच्छे विचार और सकारात्मक सोच आपको कामयाबी की बुलंदियों को छूने में मदद करती है, इसलिए इन्हें अपने जीवन का हिस्सा बनायें। इन कुछ तरीकों को अपना कर आप अपने काम बेस्ट तरीके से कर सकते हैं तो देर किस बात की आप अभी खुद भी करें और अपने दोस्तों से भी करने के लिए कहें । ऐसा करके आप और आपके दोस्तों ने क्या अनुभव किया। अपने विचारों को हमे ज़रूर बताएं, हमे आपके विचारों का इंतजार रहेगा।

GoMedii - Buy Medicine Online