बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय और साथ में करे हैल्दी डाइट का सेवन

GoMedii Ad - Buy Medicine Online

बच्चे अक्सर बैक्टीरिया, वायरस, कवक,और परजीवी जैसे जीवाणुओं के सम्पर्क में आते है | लेकिन इसका मतलब ये बिलकुल नहीं की वो बीमार हो जायेंगे | मजबूत इम्युनिटी (रोग प्रतिरोधक) बच्चो को प्राकृतिक रूप से रोगो से बचाव करने में मदद करती है | बच्चो में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना बहुत जरुरी है |

 

रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमी की वजह से बच्चे पड़ते है बीमार | अगर आपका बच्चा अक्सर सर्दी-जुकाम , फ्लू , कान के संक्रमण ,पेट में गड़बड़ी और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से ग्रस्त रहता है तो , इससे ये पता चलता है की आपके बच्चे की इम्युनिटी कमजोर है | और इस वजह से आपको अपने बच्चों की इम्युनिटी और डाइट का भी ख़ास ख्याल रखना होगा, जिससे उनकी इम्युनिटी कमजोर न हो और वो स्वस्थ रहे |

 

 

बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाने के हैल्दी डाइट  

 

 

ऐसे में कुछ विशेष डाइट के सेवन करे जिसके जरिये बच्चों की इम्युनिटी आसानी से बढ़ाई जा सकती है|

 

विटामिन डी वाले आहार

 

विटामिन डी वाले आहार हमारे लिए बहुत जरूरी है। इसका सेवन करने से रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है | यह हड्डियों को मजबूत बनाने में भी बहुत मददगार है | इसके अलावा दिल को स्वस्थ बनाने के लिए विटामन डी बहुत जरूरी है| और इसका सेवन करने से बच्चों की इम्युनिटी आसानी से बढ़ती है |

 

ब्रोकली

 

ब्रोकली पौष्टिक गुणों से भरपूर है | इसमें विटमिन-ए और विटामिन सी के अलावा ग्लूटाथियोन नामक एंटी ऑक्सीडेंट तत्व पाया जाता है| यह इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने वाली ऐसी सब्जी है, जिसे आप रोज के भोजन में आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं| इसमें थोड़े से पनीर के साथ स्टीम्ड ब्रोकली मिलाकर स्वादिष्ट सैलड तैयार किया जा सकता है, जिसके सेवन से शरीर को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन और कैल्शियम भी मिल जाता है|

 

लहसुन

 

यह एक सुपर-फूड है, जो आमतौर पर हर घर में इस्तेमाल किया जाता है | लहसुन शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाने में बहुत मददगार होता है| इसमें एंटी-बैक्टीरिया और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो बहुत सारे बैक्टीरिया और रोगाणुओं से लड़ने में मदद करते हैं और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है|

 

खट्टे फल

 

खट्टे फल जैसे कि संतरा , मौसमी , नींबू , आंवला आदि विटामिन सी से भरपूर होते हैं | हमारे शरीर में विटामिन सी की भूमिका एक संरक्षक की होती है | यह पोषक तत्व फ्री रेडिकल्स से हमारी कोशिकाओं का बचाव करता है और हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है, जिसके कारण सर्दी, खांसी और अन्य तरह के इन्फेक्शन होने का खतरा कम होता है | इसलिए सर्दियों में खट्टे फलों का सेवन जरूर करें।

 

प्रोटीन वाले आहार

 

अगर आप अक्सर बीमारियों की चपेट में रहते हैं, तो आपको अपना प्रोटीन का स्तर जरूर बढ़ाना चाहिए। प्रोटीन वह तत्व होता है, जिससे एंटीबॉडीज बनते हैं, इसलिए आपके शरीर में प्रोटीन का उतना स्तर मौजूद हो जितना आपके इम्यून सिस्टम की कार्यप्रणाली के लिए आवश्यक है। दालें, अंडे, मांस, डेरी उत्पाद, सोया, मछली आदि प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं।

 

 

बच्चों की इम्युनिटी को बढ़ाने के कुछ कारक

 

 

हर बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता अलग होती है | ऐसे बहुत से कारक हैं जो बच्चों की इम्युनिटी को बढ़ाने और उसे बेहतर बनाने में मदद करते हैं |

 

व्यायाम

 

बहुत लम्बे समय तक बैठे रहने से मास्पेशियाँ अकड़ जाती हैं | इसलिए बच्चो के लिए व्यायाम करना बहुत जरूरी है | इससे बच्चों की इम्युनिटी पावर मजबूत होगी | अगर आप बहुत देर तक बच्चे को गोद में ही उठाये रखें तो वोह हिल डुल नहीं पाते | बच्चों को खेलने और खुले में घूमने की ज़रुरत होती है, जिससे वो फुर्तीले बन सकें | खेलने का भी एक नियम बनायें और बच्चों को खुल कर खेलने दें |

 

भरपूर नींद लेना

 

कम सोना पूरे शरीर का संतुलन बिगाड़ सकता है| उम्र के हिसाब से हर उम्र के लिए सोने की ज़रूरतें अलग-अलग होती हैं | बच्चों को करीब 11 से 14 घंटे सोने की ज़रुरत होती है |

 

मानसिक एवं भावनात्मक स्वास्थ

 

किसी भी तरह का डर बच्चे की मानसिक स्थिति पर असर डाल सकता है | बच्चों को हमेशा खुश रहना चाहिए तभी उसका सम्पूर्ण विकास संभव हो सकता है | और इससे माँ बाप होने के नाते हमें बच्चे के साथ सही कम्युनिकेशन रखना चाहिए, ताकि बच्चा हमसे हर बात बिना किसी डर के खुल कर कह सके |

 

अपौष्टिक और जंक फ़ूड खाने से बचे

 

बच्चों को जंक खाना बहुत भाता है| चिप्स, चोकलेट और पैकेट वाले खाने के लिए बच्चों की विशेष रूचि होती है| हम इसे उनके खाने में से पूरी तरह नहीं मिटा सकते पर उसे कम ज़रूर कर सकते हैं| कोशिश करें की जंक खाने में भी फ़ल और सब्जियां इस्तेमाल हो सकें |

 

खाना-खाते वक़्त गैजेट्स से रखे बच्चो को दूर

 

बच्चो को खाना खिलाते वक़्त गैजेट्स से दूर रखना चाहिए , जिससे वो अपना पूरा ध्यान खाने पर ही दे और अच्छे से खाना खा सके | गैजेट्स की वजह से उनका ध्यान बट जाता है और वो भरपूर मात्रा में खाना नहीं खा पाते |

 

टीकाकरण

 

बच्चों को उनके जन्म के तुरंत बाद से टीकाकरण करवाना बहुत जरुरी है, ये टीके बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता तो बढ़ाते ही हैं, साथ ही में कई रोगों से बच्चों की रक्षा भी करते हैं |

 

इन टीकों में से प्रमुख टीके हैं, जिन्हे हर बच्चे को लगवाना बहुत जरूरी होता है और उनमे से कुछ प्रमुख है : बीसीजी(BCG) , टीटी ( TT ) , हेपेटाइटिस-बी ( hepetitis – B ), मीसल्स ( Measles ), ओरल पोलियो वैक्सीन (Oral Polio Vaccine ) इत्यादि |

 

साफ़-सफाई

 

बच्चे जब भी बाहर से खेल कर या घूम कर आयें तो हाथ-मुँह-पैर धोकर कपडे बदलने की आदत जरूर डालें और पहले ये आप स्वयं करें क्योंकि बच्चे आपको देखकर सीखते हैं, इसलिए जब आप ये नियमित रूप से करेंगे तो वो भी जरूर सीखेंगे | ये साफ़-सफाई की आदतें भी बच्चों को स्वस्थ रहने में मददगार होती हैं |

 

 

बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए घरेलु उपाए

 

 

  • नियमित रूप से अपने बच्चो को हल्दी वाला दूध पिलायें, खासकर फ्लू के मौसम में |

 

  • तुलसी की पत्तियों को धोकर बच्चे को रोज़ चबाने के लिए दे |

 

  • च्यवनप्राश जो की जड़ी-बूटियों, करौंदे, और मसालों से तैयार किया जाता है | ये बच्चो के स्वास्थ और इम्युनिटी पावर दोनों के लिए बहुत लाभदायक होता है |

 

  • आंवला बच्चे के इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है |

 

  • चने का सेवन करने से शरीर में जिंक की कमी नहीं होती है |

 

 

बच्चो में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना बहुत जरुरी है , इस वजह से आपको अपने बच्चों की इम्युनिटी और डाइट का भी ख़ास ख्याल रखना होगा, जिससे उनकी इम्युनिटी कमजोर न हो और वो स्वस्थ रहे | इसके साथ ही आप डॉक्टर की सलाह लेना न भूले उनसे संपर्क करे और अपने बच्चो की इम्यून सिस्टम का चेकअप कराते रहे |

 


Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।


   
GoMedii - Buy Medicine Online